Big Breaking : लालू के आते ही हुड़दंग शुरु, तेजप्रताप के साथ धक्कामुक्की, RJDसे रिश्ते खत्म !

लंबे अरसे के बाद आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव बिहार पहुंचें. एयरपोर्ट से लेकर राबड़ी आवास तक जश्न का माहौल था लेकिन इस जश्न में खलल हो गया. लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव को राबड़ी आवास में घुसने ही नहीं दिया गया.

तेजप्रताप गुस्से से लाल हैं. उन्होंने राबड़ी आवास में अपनी एंट्री बंद करवाने का आरोप पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह पर लगा दिया. तेजप्रताप ने ऐलान ए जंग करते हुए कहा कि अब जब तक यह आदमी आरजेडी में हैं, मेरा आरजेडी से कोई लेना देना नहीं है.

तेजप्रताप यादव ने कहा कि जगदानंद, एमएलसी सुनील सिंह और संजय यादव के इशारे पर मेरे साथ दुर्व्यहार हुआ. आज का दिन खुशी का दिन था. सबको एक होने का दिन था.

दरअसल हुआ यूं कि लालू प्रसाद यादव के पटना पहुंचते ही तेजप्रताप यादव ने यह कोशिश की की लालू उनके घर पहले जाएं लेकिन ऐसा नहीं हुआ. लालू एयरपोर्ट से सीधे राबड़ी आवास गए. लालू ने तेजप्रताप का नोटिस ही नहीं लिया. तेजप्रताप इस बात से बेहद गुस्से में हैं. उन्होंने अपनी जगदानंद, सुनील सिंह और संजय यादव को इसके लिए जिम्मेवार ठहराते हुए कह दिया कि अब मेरा आरजेडी से कोई नात नहीं रह गया है. मेरे पिता के सामने ही मुझे धक्के मारकर बाहर कर दिया गया है.

बताते चलें कि तेजप्रताप ने अपने पिता के स्वागत की पूरी तैयारियां कर रखी थी. वह एयरपोर्ट से ही लगातार अपने पिता के कानों में यह कहते आ रहे थें कि आपको सबसे पहले मेरे आवास पर चलना है. तेजप्रताप यादव ने अपने पूरे आवास को खास तौर पर फूलों से सजा रखा था. गेट पर वेलकम टू माय फादर का बोर्ड लगा रखा था लेकिन लालू प्रसाद यादव ने संभवतः तेजप्रताप यादव को इग्नोर किया. तेजप्रताप को यह बात बेहद बुरी लग गई.

तेजप्रताप ने बताया कि उन्होंने अपने माता पिता से यह बात पहले ही कर ली थी कि उन लोगों को सबसे पहले मेरे आवास पर चलना है लेकिन जगदानंद, सुनील सिंह और संजय यादव ने उन्हें बंधक बना लिया. तेजप्रताप यादव ने कहा कि वह अपनी मां राबड़ी देवी के आवास में भी जब जाने का प्रयास करने लगे तो उन्हें रोक दिया गया. अब जब तक जगदानंद जैसे लोग पार्टी में हैं, मेरा आरजेडी से कोई लेना देना नहीं है.

यह भी पढ़ें : लालू के दोनों बेटे क्यों नाराज रहते हैं कन्हैया से, जानिए वजह…

Leave a Reply