BIG BREAKING : लालू राज में शुरु हुआ चैती छठ नीतीश राज में हो गया बंद….

जी हां, अगर ये काम किसी कांग्रेस या गैर भाजपा शासित राज्य में हुआ होता तो लोग आसमान सिर पर उठा लेतें. सभी न्यूज चैनलों की ये ब्रेकिंग न्यूज बन जाती. न जाने कितनी बहसें इस पर हो जाती… कितने दंगल हो गए होते लेकिन अब सब खामोश है. इससे पता चलता है कि हमारी आस्था सिर्फ सियासत का विषय बनती जा रही है.

छठ महापर्व बिहारियों के लिए सिर्फ एक त्योहार नहीं बल्कि इमोशन है, भावना है और लगता है कि इस इमोशन के साथ बिहार की नीतीश सरकार खिलवाड़ कर रही है. पटना के संजय गांधी जैविक उद्यान में एक झील है जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के कार्यकाल के दौरान छठ करने की परंपरा शुरु हुई थी, जिसे इस बार बंद कर दिया गया है.

हर साल झील के किनारे खूबसूरत घाटों का निर्माण कराया जाता है और उसमें पटेल नगर, राजवंशी नगर, एजी कॉलोनी, पटना एयरपोर्ट के आसपास के इलाके के लोग छठ किया करते थें लेकिन इस बार के चैती छठ में व्रतियों को रोक दिया गया.

बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल की पटना ईकाई के आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से एक वीडियो ट्वीट किया गया है जिसमें दिखाया गया है कि कैसे पटना जू के गेट पर छठ व्रतियों को रोका जा रहा है. छठ व्रति बेहद बुरी तरह से परेशान दिखाई दे रहे हैं.

आरजेडी पटना ने यह वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा है कि हिंदू हिंदू करके समाज में आग लगा कर वास्तविक मुद्दों से समाज में आग लगा कर वास्तविक मुद्दों से भटकाने वाली बिहार की भारतीय जनता पार्टी और नीतीश कुमार की सरकार बिहार में ही हिंदूओं के सबसे बड़े महापर्व छठ को पटना के चिड़ियाघर में मनाने नहीं दे रहा है. जबकि लालू प्रसाद यादव के कार्यकाल के दौरान से ही श्रद्धालु यहां पर छठ मनाते आए हैं.

अब चूंकि बिहार में भारतीय जनता पार्टी और जनता दल यूनाइटेड के गठबंधन की सरकार है, लिहाजा कोई भी बोलने को तैयार नहीं है.
वहीं इस वीडियो को रिट्वीट करते हुए बिहार सरकार के पूर्व मंत्री और आरजेडी विधायक सुरेंद्र प्रसाद यादव ने चैती छठ पूजा पर भी 03 दिन की छुट्टी की मांग कर दी है. सुरेंंद्र यादव ने ट्वीटर पर लिखा है कि ना ही बिहार सरकार में चैती छठ में छुट्टी देती है. चैती छठ पर बिहार में लगातार तीन दिनों का अवकाश होना चाहिए.

सुरेंद्र प्रसाद यादव ने लिखा है कि चैती छठ बिहार के लोगों के लिए लोक आस्था का महापर्व है, इसलिए हमारी यह मांग है कि चैती छठ के दौरान तीन दिवसीय अवकाश होना चाहिए.

Leave a Reply