बाप और बेटे के बीच बने दीवार आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह।

तेजप्रताप यादव ने आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के खिलाफ आरोपों का मोर्चा खोल दिया है।
तेज प्रताप का कहना है की जगदानंद सिंह उनके परिवार को अपने इशारों पर नचा रहे हैं। और उन्होंने जगदानंद सिंह को आरएसएस पार्टी से मिले होने का दावा भी किया है। उन्होंने यह भी कहा कि जिसके कारण आरजेडी की हालत बद्तर होने वाली है।

मामला यह है कि जब लालू यादव अपने बेटे तथा नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव तथा प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के साथ बिहार विधानसभा की 2 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के प्रचार के लिए गए तो अपने दूसरे बेटे तेजप्रताप को साथ में नहीं ले गए। जिसके वजह से तेज प्रताप काफी नाराज और गुस्से में है। उन्होंने सीधा निशाना प्रदेश अध्यक्ष पर साधा है। उनका कहना है कि जगदानंद सिंह के वजह से ही उनको चुनाव प्रचार के लिए नहीं ले जाया गया है। इससे पहले भी रविवार को करीब साढे 3 साल बाद जब लालू पटना पहुंचे थे तो उस वक्त भी उनको पिता से नहीं मिलने दिया गया और उन्होंने इसका मुख्य वजह जगदानंद सिंह को ही बताया था। उनका कहना था कि खुशी का माहौल था और सारा परिवार एक साथ था। ऐसे माहौल में भी हमारा अपमान किया गया तथा मुझे अपने ही पिता से मिलने की अनुमति नहीं मिली। आगे उन्होंने कहा जगदानंद सिंह ने उन्हें धक्का दिया था तथा उन्हें अपने पिता के घर जाने से भी रोका गया। हालांकि बाद में उन्होंने अपने आवास पर धरना दिया था जिसके वजह से लालू यादव और राबड़ी देवी खुद उनसे मिलने गए थे।इसलिए उन्होंने साफ शब्दों में कहा है कि जब तक जगदानंद सिंह को पार्टी से नहीं निकालेंगे उनको आरजेडी से तब तक कोई मतलब नहीं है,उन्हें सिर्फ और सिर्फ अपने पिता से मतलब है।

यह भी पढ़ें : उपचुनाव : पूर्व केंद्रीय मंत्री कुशवाहा नेता ने चला ऐसा दांव कि RJD, JDU, कांग्रेस सब हो गए परेशान

Leave a Reply