कड़कनाथ मुर्गे का कारोबार करें, लाख रुपये महीना कमाएं, कम लागत में…

इन दिनों बड़ी तेजी से इस बात की चर्चा हो रही है कि टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी कड़कनाथ मुर्गे के कारोबार में लग गए हैं. कई युवा धोनी के इस कदम को फॉलो कर रहे हैं और कड़कनाथ मुर्गे के कारोबार में अपना भविष्य तलाश रहे हैं. कड़कनाथ मुर्गे के कारोबार में आप चाहें तो हाथ आजमा सकते हैं और लाखों रुपये कमा सकते हैं.

कड़कनाथ मुर्गा काले रंग का होता है. पूरी तरह से काला दिखने वाला कड़कनाथ मुर्गे की इन दिनों बाजार में काफी मांग है. 1500 रुपये किलो तक आसानी से बिक जाने वाले कड़कनाथ मुर्गे के व्यापार में लाभ की काफी संभावनाएं हैं. कड़कनाथ मुर्गा न सिर्फ उपर से बल्कि अंदर से भी काला होता है यानी की इसका मांस भी काला ही होता है.

कड़कनाथ मुर्गे में काफी औषधीय गुण होते हैं. इसमें पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जबकि कोलेस्ट्रॉल की मात्रा काफी कम होती है. इस वजह से यह तेजी से मार्केट में लोकप्रिय हुआ है.

अगर आप भी कड़कनाथ मुर्गे का कारोबार करना चाहते हैं तो आपको मध्यप्रदेश के झाबुआ का रुख करना होगा. यहां पर कड़कनाथ मुर्गे का बड़े पैमाने पर पालन हो जाता है. एक छोटा मुर्गा यहां पर 200 रुपये से 300 रुपये तक होता है. आप इसे कुछ दिनों तक पालन पोषण कर इसे 1200 रुपये से 1500 रुपये तक बेच सकते हैं.

न सिर्फ कड़कनाथ मुर्गे के मांस का बल्कि अंडे की भी बड़े पैमाने पर मांग होती है. आम तौर पर साधारण अंडा मार्केट में 07 से 08 रुपये तक का बिकता है पर कड़कनाथ मुर्गे का अंडा 20 रुपये में बिकता है. ठंड के मौसम में कड़कनाथ मुर्गे के मांस और अंडे की खपत काफी ज्यादा बढ़ जाती है. मांग को देखते हुए नई पीढ़ी के युवाओं का रुझान इस धंधे की ओर बढ़ा है.

अगर आपकी भी इच्छा है कि आप कड़कनाथ मुर्गे या मुर्गी का पोल्ट्री फार्म खोलें तो इसके लिए आप अपने शहर के बाहरी हिस्से या फिर गांव में इसे शुरु कर सकते हैं. अगर आप सचमुच इस व्यापार को लेकर गंभीर हैं तो आप पोल्ट्री फार्म की ट्रेनिंग भी ले सकते हैं. इस बात का खास ख्याल रखें कि आप जिन चूजों से अपने पोल्ट्री फार्म की शुरुआत करने जा रहे हैं, वे स्वस्थ रहें.

चूजों की खरीद के दौरान आश्वस्त हो लें कि चूजे बीमार नहीं हो. अगर एक चूजा बीमार हुआ तो बाकी के दूसरे चूजों को भी इसकी बीमारी लग सकती है. कड़कनाथ मुर्गे का फार्म जमीन से थोड़ी उंचाई पर ही बनाना चाहिए ताकी कभी भी बारिश का पानी अंदर न घुस सके. कड़कनाथ मुर्गे के फार्म में रोशनी, तापमान और हवा का खास ख्याल रखना चाहिए.

सरदार सिमरनजीत सिंह

यह भी पढ़ें : 40 साल से भी कम उम्र के अमीर भारतीय ? दौलत जानकर हो जाएंगे हैरान !

Leave a Reply