कोरोना : कॉन्डोम की बिक्री में भारी गिरावट… बिना कॉन्डोम के ही कर रहे लोग…

कोरोना सिर्फ एक बीमारी नहीं बल्कि त्रासदी है. कोरोना की वजह से बड़े पैमाने पर दुनिया भर में व्यापार प्रभावित हुआ है. इनमें कॉन्डोम बनाने वाली कंपनियां भी शामिल हैं. इन कंपनियों को उम्मीद थी की दुनिया भर में जिस तरह से लॉकडाउन लगा है, वैसे में लोग अपने पार्टनर के साथ ज्यादा वक्त बिताएंगे जिससे कॉन्डोम की बिक्री बढ़ेगी लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि पिछले 02 वर्षों में कॉन्डोम की बिक्री में 40 प्रतिशत की गिरावट आई है.

इस आंकड़े से पता चलता है कि कोरोना में लॉकडाउन की वजह से लोग अपने घरों में रहें जरुर लेकिन तनाव की वजह से शारीरिक संबंध नहीं बना पाए. कपंनियों को ये अंदाजा था कि लॉकडाउन में लोग घरों में रहेंगे तो यौन संबंध बनाने के मामलों में वृद्धि होगी पर ये अंदाजा विफल साबित हुआ.

निक्केई एशिया की रपट के अनुसार कोरोना में होटलों के बंद रहने की वजह से भी कॉन्डोम की बिक्री प्रभावित हुई. कॉरेक्स बीएचडी के सीईओ ने भी इस खबर पर मुहर लगाई है.

कॉरेक्स एक मलेशियन कंपनी है. दुनिया भर में बिकने वाले हर पांच में से एक कॉन्डोम इसी कंपनी का होता है. कॉरेक्स ने यह अनुमान लगाया था कि लॉकडाउन में कॉन्डोम के व्यापार में दोहरे अंक की बढ़ोतरी हो सकती है लेकिन ऐसा हो न सका. आपको बता दें तो कॉरेक्स कंपनी ही ड्यूरेक्स जैसे ब्रांडेड कॉन्डोम बनाती है. कॉरेक्स कई फ्लेवर्स के कान्डोम बनाती है जो नई पीढ़ी को खासा पसंद आती है.

कॉरेक्स प्रत्येक वर्ष 5 अरब से ज्यादा कॉन्डोम बनाती है. इसकी बिक्री में गिरावट का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसके शेयरो में पिछले दो सालों में 10 प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई है.

यह भी पढ़ें : एक लड़की की सच्ची कहानी : मीठी खुजली सी हो रही थी, पायल ने कहा… ये हस्तमैथुन है

 

Leave a Reply