क्या है पिता बनने की सही उम्र, स्पर्म काउंट कम होने से क्या है इसका connection….

Desk: अक्सर यह माना जाता है कि बच्चे पैदा करने के लिए महिलाओं की उम्र सिमित होती है. और पुरुषों के बारे में कहा जाता है कि किसी भी उम्र में बच्चे पैदा करने की उनमें क्षमता होती है लेकिन हकीकत इससे काफी अलग है, जितनी महिलाओं की उम्र बच्चे को जन्म देने के लिए मायने रखती है, उतना ही जरूरी पुरुषों के लिए भी माना जाता है. लेकिन लड़कों के पिता बनने की सही उम्र के बारे में कोई नहीं बताता है, तो चलिए आज हम आपको लड़कों के पिता बनने की सही उम्र क्या है.

विशेषज्ञों के अनुसार पुरुषों के लिए 20 से लेकर 30 साल तक की उम्र पिता बनने के लिए सही है. हालांकि 50 या उससे ज्यादा की उम्र होने पर भी पुरुष बच्चे पैदा कर सकते हैं.

वहीं गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के मुताबिक तो एक व्यक्ति ने 92 साल की उम्र में बच्चे को जन्म दिया था. शोधकर्ताओं का मानना है कि पेरेंट्स बनने में पुरुषों की उम्र काफी महत्वपूर्ण होती है. 40 वर्ष से ज्यादा उम्र होने पर पुरुषों में पिता बनने की संभावनाएं कम होने लगती हैं.

बता दे एक्सपर्ट्स का कहना है कि पुरुषों में स्पर्म का प्रोडक्शन कभी रुकता नहीं है. लेकिन उम्र बढ़ने के साथ स्पर्म का डीएनए डैमेज होने की संभावनाएं काफी ज्यादा बढ़ जाती हैं, जिससे प्रजनन क्षमता प्रभावित होती है. और होने वाले बच्चे के स्वास्थ्य पर भी इसका बुरा असर पड़ सकता है.

WHO ने सीमन के कुछ मानदंड तय किए हैं जिनसे हेल्दी स्पर्म निर्धारित किया जाता है. इसमें स्पर्म काउंट, शेप, और मूवमेंट शामिल हैं. इसके अनुसार 35 साल की उम्र के आसपास पहुंचते ही पुरुषों में यह स्पर्म पैरामीटर खराब होने लगता है. वहीं 22 से लेकर 25 साल के बीच पुरुष सबसे ज्यादा फर्टाइल होते हैं. ऐसे में उन्हें 35 साल की उम्र से पहले बच्चे पैदा कर लेने की सलाह दी जाती है, क्योंकि इस उम्र के बाद फर्टिलिटी खराब होनी शुरू हो जाती है.

यह भी पढ़े :- हमेशा स्वस्थ और ग्लोइंग स्किन पाने के लिए सोने से पहले करे यह काम…

बता दे बढ़ती उम्र के साथ ही खराब जीवनशैली की वजह से भी स्पर्म की गुणवत्ता में कमी आती है. नीद पूरी न लेना, खाने में पोषक तत्वों की कमी, धूम्रपान का सेवन और भी कई ऐसे कारण हैं जिनका असर आपके शरीर पर पड़ता है और फर्टिलिटी में कमी आती है.
इसके अलावा पुरुष कई ऐसे सप्लीमेंट खाते हैं और इंजेक्शन लगवाते हैं, जिसके चलते भी उनके स्पर्म काउंट पर असर पड़ता है. ऐसे में आपको अपनी लाइफस्टाइल पर ध्यान देना होगा.

इन बातों का ज़रूर रखें ध्यान
• स्मोकिंग करने से बचें
• बाहर के खाने का सेवन कम करें
• फलों और हरी सब्जियों को अपनी डाइट में शामिल करें
• शराब से बनाएं दूरी, इससे भी स्पर्म काउंट पर पड़ता है असर
• एक्सरसाइज रोज करें
• डाइट प्लान सही ले

यह भी पढ़े :- आम में पाए जाते हैं यह महत्वपूर्ण विटामिन्स, जाने क्या है आम खाने के फायदे…

 

हमारे YouTube Channel को Subscribe करे

 

Leave a Reply