बिहार में बदल गया ड्राइविंग लाइसेंस का नियम

अगर आपका ड्राइविंग लाइसेंस नहीं बना है और आप ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की योजना बना रहे हैं तो आपको यह खबर ध्यान से पढ़ना चाहिए। रोड एक्सीडेंट की लगातार आ रही खबरों के मद्देनजर परिवहन विभाग ने नियमों में कुछ बदलाव किए हैं। इन बदलावों को मूर्त रूप देने के जिला परिवहन विभाग के कार्यालयों को आवश्यक दिशानिर्देश दे दिए गए हैं। इस नए नियम के तहत अब प्रार्थी जिस जिले से लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस बनवाएंगे, अब उन्हें उसी जिले से स्थायी ड्राइविंग लाइसेंस निर्गत किया जाएगा।

मिली जानकारी के अनुसार राज्य में अब किसी दूसरे जिले के परिवहन कार्यालय से स्थायी ड्राइविंग लाइसेंस बनाने का विकल्प समाप्त कर दिया गया है। राज्य परिवहन विभाग ने आवश्यक निर्देश जारी करते हुए सभी जिलों के जिला परिवहन पदाधिकारियों को पत्र लिखा है और कहा है कि इस बदलाव को कार्यरुप देने के लिए सॉफ्टवेयर में ज़रूरी व्यवस्थाएं कर दी जाएं। अब गाड़ी चलाने वाले किसी दूसरे जिले में स्थायी ड्राइविंग लाइसेंस नहीं बनवा पाएंगे। जहां से लर्निंग लाइसेंस बनेगा, वहीं से स्थायी लाइसेंस भी बनेगा।

अब तक ऐसा होता था कि लोग लर्निंग लाइसेंस कहीं और से बनवा कर स्थायी लाइसेंस किसी और जिले से बनवा लेते थें। जिस जिले में स्थायी लाइसेंस के लिए ड्राइविंग टेस्ट अनिवार्य है, लोग वहां से स्थायी लाइसेंस न बनवा कर कहीं और से बनवा लेते थें, जिसकी वजह से सड़क दुर्घटनाओं की संख्या में बढ़ोतरी देखी जाती थी।

यह भी पढ़ें : बिहार में मुखिया, जिला पार्षद, बीडीसी को कितना वेतन मिलता है ?

Leave a Reply