बड़ी खबर : बिना भाजपा में शामिल हुए अखिलेश को झटका देने की तैयारी में चाचा शिवपाल

अखिलेश यादव के चाचा और मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई शिवपाल सिंह यादव बिना भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए ही समाजवादी पार्टी को बड़ा झटका देने की तैयारी में हैं. खबरें आ रही है कि भारतीय जनता पार्टी शिवपाल सिंह यादव को यूपी विधानसभा का डिप्टी स्पीकर बना सकती है. दरअसल यह लड़ाई विधानसभा में आगे बैठने की है. अगर शिवपाल सिंह यादव डिप्टी स्पीकर बनते हैं तो उन्हें अखिलेश यादव की बगल वाली सीट मिल जाएगी. नियमों के अनुसार डिप्टी स्पीकर की सीट नेता विरोधी दल के बगल में होती है. ऐसे में यह समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव के लिए किसी झटके से कम नहीं होगा.

मनमोहन सिंह के खिलाफ सुशील मोदी ने दिया बयान तो लोगों ने कहा, तू पागल है

आपको बता दें कि शिवपाल सिंह यादव लगातार छह बार विधायक रहे हैं. वर्ष 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में उनकी दूरियां अखिलेश यादव से बढ़ी थी. इस बार मुलायम सिंह यादव के हस्तक्षेप के बाद शिवपाल एक बार फिर से समाजवादी पार्टी के करीब आएं और इस बार भी जीत गए. शिवपाल ने अपनी ही बनाई हुई प्रगतिशील समाजवादी पार्टी को छोड़कर समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा था. शिवपाल समाजवादी पार्टी के टिकट पर लड़ने की बजाय उनसे 100 सीटें मांग रहे थें लेकिन अखिलेश ने शिवपाल को एक भी सीट नहीं दी. विधानसभा चुनावों के दौरान ही शिवपाल का यह दर्द रह रहकर सामने आ जा रहा था लेकिन वो खामोशी से चुनाव में समाजवादी पार्टी के साथ डटे रहें.

इन 04 अक्षरों के नाम वाले लोग जल्द ही धन दौलत हासिल कर लेते हैं, किस्मत भी तेज होती हैं इनकी

विधानसभा चुनावों के जब नतीजे आएं और समाजवादी पार्टी इस चुनाव में मुख्य विपक्षी दल के रुप में सामने आई तो यह कयास लगाए जाने लगे थें कि शिवपाल सिंह यादव ही यूपी में विधानसभा में विरोधी दल के नेता होंगे क्योंकि अखिलेश यादव लोकसभा के सदस्य भी हैं. सब कुछ ठीक चल रहा था कि अचानक से खबर आ गई कि अखिलेश यादव लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा देंगे और विधानसभा में विरोधी दल के नेता बनेंगे. इसके बाद से शिवपाल सिंह ने एक बार फिर से बागी तेवर अख्तियार कर लिया.

हिंदू धर्म में 108 अंक शुभ क्यों होता है।

शिवपाल ने सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर अटकलों के बाजार को और गर्म कर दिया. इसके बाद उन्होंने ट्वीटर पर पीएम मोदी को फॉलो किया तो उनका बीजेपी के साथ जाना तय माना जाने लगा. कहा तो यह भी जा रहा था कि शिवपाल भाजपा की ओर से राज्यसभा जाएंगे और उनके बेटे को जसवंत नगर विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी उपचुनाव लड़ाएगी लेकिन अब यह तय माना जा रहा है कि शिवपाल सिंह यादव यूपी विधानसभा में डिप्टी स्पीकर होंगे. इसके लिए उन्हें बीजेपी में जाने या समाजवादी पार्टी को छोड़ने की कोई जरुरत नहीं होगी.

Leave a Reply