लालू के बयान पर पूरा फायर हैं मीरा कुमार, जानिए क्या कहा…

बिहार कांग्रेस के प्रभारी और दलित नेता भक्त चरण दास पर अभद्र टिप्पणी कर आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने उड़ता हुआ तीर ले लिया है. बिहार विधानसभा की दो सीटों के लिए हो रहे उपचुनाव में प्रचार करने पहुंची पूर्व लोकसभा स्पीकर मीरा कुमार ने इस बयान के लिए लालू प्रसाद यादव पर जमकर प्रहार किया है.

 

मीरा कुमार ने कहा कि लालू प्रसाद के इस बयान से पूरे हिंदुस्तान के दलित वर्ग के आत्मसम्मान को चोट पहुंची है. मीरा कुमार ने कहा कि हमें लालू प्रसाद यादव से ऐसे बयान की उम्मीद नहीं थी. एक दलित नेता के लिए इस प्रकार की भाषा का इस्तेमाल की गई, इससे हमें पीड़ा है.

मीरा कुमार ने कहा कि लालूजी बिहार के उच्च स्तरीय नेता हैं. हम उनका काफी सम्मान करते हैं.उन्होंने हमारे प्रभारी के लिए अपमानजनक शब्द का इस्तेमाल किया है. इससे न सिर्फ बिहार बल्कि पूरे भारत के दलितों को चोट पहुंची है. भक्त चरण दास की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह उनकी महानता है कि उन्होंने ऐसे अभद्र भाषा के इस्तेमाल के बावजूद लालू प्रसाद यादव को क्षमा कर दिया है.

मीरा कुमार ने कहा कि ये बिहार की धरती के लिए अशोभनीय घटना है. हम सब उनकी इस भाषा के लिए शर्मिंदा है. मीरा कुमार ने कहा कि ये सिर्फ सीट नहीं बल्कि भावना की बात है. हमें इस बात से चोट लगी है. जिस व्यक्ति को यूपीए ने कैबिनेट में सम्मानजनक स्थान दिया था, उसने ऐसा बयान दिया है, वो पीड़ाजनक है.

वहीं मीडियाकर्मियों द्वारा यह पूछे जाने पर कि आरजेडी ने इसे आम बोलचाल की बिहारी भाषा बताया है, इस पर मीरा कुमार ने कहा कि मत बदनाम किजिए बिहार की भाषा को… बिहार की भाषा बेहद सांस्कृतिक और सांस्कारिक भाषा है. बिहार की संस्कृति में ऐसे शब्दों का इस्तेमाल नहीं होता. वहीं मीरा कुमार ने यह भी कहा कि लालू प्रसाद यादव का बयान एससी, एसटी एक्ट के अंतर्गत आता है.

एक संवाददाता सम्मेलन में जब कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास से यह पूछा गया कि आपके विरुद्ध लालू प्रसाद यादव ने अपमानजनक शब्दों का प्रयोग किया है, इस पर भक्त चरण दास ने कहा कि मैं ईश्वर से लालूजी के दीर्घायु जीवन की कामना करता हूं. ईश्वर लालूजी को शारीरिक और मानसिक रुप से स्वस्थ बनाए रखें.

यह भी पढ़ें : मामा का भांजे पर हमला : तेजस्वी जोकर है, बर्बाद कर देगा बिहार, विदेश घूमने के लिए सीएम बनना चाहता है…

Leave a Reply