पंजाब CM चन्नी और यूपी CM योगी आमने सामने, सिक्ख वोट की राजनीति शुरु

यूपी के लखीमपुर में भाजपा नेताओं के साथ किसानों के साथ हुए झड़प के साथ कई बड़े नेता घटनास्थल पर पहुंचने में असफल रहे हैं. यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने मामले की गंभीरता को देखते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को पहले ही अरेस्ट कर लिया है .

यूपी सरकार वहां किसी भी बड़े राजनीतिक चेहरे को पहुंचने से रोकना चाहती है. यहां तक की एयरपोर्ट प्रशासन को भी सरकार के इस फैसले से अवगत करा दिया है लेकिन पंजाब के सीएम चरनजीत सिंह चन्नी ने अलग आइडिया लगाया है और वह थोड़ी ही देर में लखीमपुर खीरी पहुंच जाएंगे.

दरअसल पंजाब सीएम चन्नी ने हैलीकॉप्टर से लखीमपुर खीरी जाने का फैसला लिया है. पंजाब के सिविल एविएशन निदेशक ने यूपी के अतिरिक्त मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी को पत्र लिखकर कहा है कि पंजाब के सीएम चरनजीत सिंह चन्नी लखीमपुर खीरी की घटना के मद्देनजर पीड़ितों से मिलने जाना चाहते हैं. लिहाजा गुजारिश है कि सीएम के हैलीकॉप्टर की लैंडिंग की परमिशन प्रदान की जाए और एक सीएम के लिए जरुरी व्यवस्थाएं भी की जाए.

मालूम हो कि मरने वाले किसान सिक्ख हैं. ऐसे में अगर चन्नी लखीमपुर खीरी नहीं जाते हैं तो पंजाब में उन्हें जवाब देना मुश्किल हो सकता है. बता दें कि लखीमपुर खीरी के मृतकों के नाम दलजीत सिंह, नछत्तर सिंह, गुरप्रीत सिंह एवं लवप्रीत सिंह हैं.

ऐसे में सीएम चन्नी यह संदेश देने की कोशिश में हैं कि वह दलित समुदाय से जरुर आते हैं लेकिन वह एक सिक्ख हैं. पंजाब के अलावा कहीं भी सिक्खों के साथ कोई घटना होगी तो चन्नी उनके साथ खड़े रहेंगे.

मालूम हो कि यूपी के बिजनौर, पीलीभीत, लखीमपुर खीरी, अमरोहा जैसे इलाकों में सिक्खों की बड़ी आबादी है. व्यापार के अलावा ये लोग किसानी से भी जुड़े हुए हैं. पश्चिमी यूपी के सिक्खों के रिश्ते पंजाब और दिल्ली के सिक्खों के साथ भी जुड़े हुए हैं. ऐसे में सीएम चन्नी लखीमपुर खीरी आकर एक बड़ा संदेश देने की कोशिश में हैं.

यह भी पढ़ें : योगी के मंत्री का बयान, देश की 95 प्रतिशत आबादी पेट्रोल का इस्तेमाल नहीं करती… दाम अब भी हैं बहुत कम….

 

Leave a Reply