पशुपति पारस को सीट मिलने पर RJD नेता ने जताई खुशी, जानिए वजह….

आज बिहार में एनडीए के बीच विधान परिषद की 24 सीटों के लिए होने वाले चुनाव के लिए बंटवारा हो गया. भाजपा और जदयू नेताओं के साझा संवाददाता सम्मेलन में इस बात का ऐलान हो गया कि भाजपा 13 सीटों पर और जदयू 11 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी. इसी बीच भाजपा जदयू नेताओं द्वारा इस बात की भी घोषणा की गई कि भाजपा अपने हिस्से की एक सीट केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस की पार्टी राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी को दी जाएगी.

एनडीए की इस घोषणा पर आरजेडी नेता और एससी, एसटी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष अनिल कुमार साधु ने चुटकी ली है. साधु ने अपने फेसबुक पर लिखा है कि सबसे होशियार तो हमारे पारस चाचा निकल गए. एक वोट अपने पास नहीं है लेकिन एक सीट ले लिए. उधर पूर्व सीएम जीतन राम मांझी और मुकेश सहनी के हाथ खाली रह गए. इस पर अनिल कुमार साधु ने कहा कि मांझी और सहनी न घर के रहें और न घाट के…

वहीं अनिल कुमार साधु ने यह भी कहा कि मांझी और सहनी जी को जिस तरह से एनडीए में अपमानित किया जा रहा है, उससे मुझे बेहद तकलीफ हो रही है. ऐसे किसी नेता को अपमानित नहीं किया जाना चाहिए…

इसके साथ ही उन्होंने फेसबुक पोस्ट में लिखा है कि ले मजा.. एनडीए की प्रेस कॉन्फ्रेंस से मांझी जी और सहनी जी का फोटो और नाम गायब है. न सीट मिला और न सम्मान…

बता दें कि आरजेडी नेता अनिल कुमार साधु केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस के बड़े भाई स्वर्गीय रामविलास पासवान के दामाद और लोजपा रामविलास के अध्यक्ष चिराग पासवान के बहनोई हैं

यह भी पढ़ें : जेडीयू में मजाक का पात्र बन गए उपेंद्र कुशवाहा, अब तेजस्वी का ही सहारा !

Leave a Reply