BIG BREAKING : महाराष्ट्र संकट के बीच CONGRESS अध्यक्ष सोनिया गांधी का चौंकाने वाला फैसला

राष्ट्र और महाराष्ट्र में चल रहे राजनीतिक घटनाक्रम के बीच कांग्रेस नेतृत्व ने बेहद चौंकाने वाला फैसला ले लिया है। कांग्रेस में फैसले लेने वाली शीर्ष निर्धारण इकाई कांग्रेस वर्किं कमेटी में चार नए सदस्यों को शामिल किया गया है इनमें पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी शैलजा और अभिषेक मनु सिंघवी का नाम भी शामिल है। कांग्रेस के इस नए फैसले को बदलती हुई कांग्रेस के रुप में देखा जा रहा है।

कांग्रेस के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल की ओर से जारी पत्र में यह बताया गया है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कांग्रेस वर्किंग कमेटी के लिए तत्काल प्रभाव से चार सदस्यों की नियुक्ति की है। इनमें कुमारी शैलजा और अभिषेक मनु सिंघवी कांग्रेस वर्किंग कमेटी यानी सीडब्लयूसी के मेंबर बनाए गए हैं जबकि यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक अजय कुमार लल्लू को विशेष आमंत्रित सदस्य और टी सुब्बारामी रेड्डी को स्थायी आमंत्रित सदस्य बनाया गया है।

आपको बता दें कि कुमारी शैलजा लोकसभा और राज्यसभा की सदस्य रह चुकी हैं। हरियाणा से आती हैं। हरियाणा कांग्रेस की अध्यक्ष रह चुकी हैं। अनुसूचित जाति वर्ग से आने वाली कुमारी शैलजा कई बार केंद्र सरकार में मंत्री भी रह चुकी हैं। महाराष्ट्र सरकार संकट

           यशवंत सिन्हा को विपक्ष के उम्मीदवार घोषित होते ही बेटे ने क्यों लगाई गुहार…

जबकि अभिषेक मनु सिंघवी राजस्थान से आते हैं। कांग्रेस के पुराने प्रवक्ता रहे हैं। मारवाड़ी समाज से आते हैं। देश के टॉप अधिवक्ताओं में से एक रहे हैं। राज्यसभा के सांसद भी रह चुके हैं।

वहीं परमानेंट इनवाइटी के तौर पर शामिल किए गए टी सुब्बारामी रेड्डी लोकसभा और राज्यसभा के पूर्व सांसद रहे हैं। आंध्र प्रदेश के विशाखापटनम से आते हैं। फिल्म निर्माता हैं और उद्योगपति भी हैं। संस्कृत भाषा में बनाई हुई फिल्म भागवत गीता को लेकर रेड्डी देश भर में चर्चा में रहे थें।

स्पेशल इनवाइटी अजय कुमार लल्लू यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष हैं। दो बार विधायक रह चुके हैं। संघर्षशील नेता के तौर पर इनकी पहचान है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के करीबी नेता माने जाते हैं। महाराष्ट्र सरकार संकट

हमारे YouTube Channel को Subscribe करे

Simranjeet Singh

Leave a Reply