जानिए कौन है सैकड़ों जान बचाने वाली पायलट मोनिका खन्ना, दिखने मे किसी परी से कम नहीं….

PATNA: पटना मे रविवार का दिन किसी काले साए से कम नहीं था। जी हाँ पूरे 191 लोगों की जान खतरे मे थी। लेकिन इसी बीच स्पाइसजेट की कैप्टन मोनिका खन्ना ने अपनी सूझबूझ से सबकी जान बचा ली। वैसे अगर पायलट की खूबसूरती की बात करे तो मोनिका खन्ना दिखने मे किसी परी से कम नहीं लगती है। तो आइए जानते है कौन है ये मोनिका खन्ना ।

बता दे, कैप्टन मोनिका खन्ना स्पाइस जेट विमान कंपनी की एक्सपीरियंस्ड पायलट हैं। उन्हें बचपन से ही आसमान में उड़ान भरने का शौक था। फ्लाइट्स उड़ाने के लिए मोनिका ने न सिर्फ की पढ़ाई की बल्कि इसके साथ-साथ कड़ी मेहनत भी की है। ऐसा कहा जाता है कि एक पायलट में धैर्य होना चाहिए, तो मोनिका ने आग लगे प्लेन की सेफ लैंडिंग कराकर इस बात को साबित कर दिया है.

किसी परी से कम नहीं दिखती पायलट मोनिका खन्ना

बात अगर प्रोफेशन  से हटकर करे तो मोनिका खन्ना देखने में किसी परी से कम नहीं लगतीं है। वह समय-समय पर अपने इंस्टाग्राम को अपडेट करती रहती हैं। बता दे, उनकी प्रोफाइल में बताया गया है कि मोनिका को सफर करना बेहद पसंद है और साथ ही उन्हें लेटेस्ट फैशन और लाइफस्टाइल को फॉलो करना भी काफी अच्छा लगता है। बता दे मोनिका खन्ना को सिर्फ आसमान ही नहीं बल्कि प्रकृति भी बेहद पसंद है। रविवार को जब स्पाइसजेट की फ्लाइट SG-723 से धुआं निकलने लगा तो मोनिका ने बगैर समय गंवाए प्लेन को गंगा नदी की तरफ मोड़ दिया था, ताकि हालात बिगड़ने पर प्लेन में सवार ज्यादा से ज्यादा लोगों को बचाया जा सके। लेकिन उनकी सूझबूझ ने यह नौबत नहीं आने दी। वहीं माता-पिता की लाडली बेटी ने अपनी बहादुरी दिखा न सिर्फ इतिहास के पन्नों में अपना नाम दर्ज कराया है बल्कि अब तो वह  पूरे देश की बेटी बन चुकी हैं।
बता दे कैप्टन मोनिका खन्ना को जैसे ही केबिन क्रू ने आग के बारे में बताया, वो हड़बड़ाई नहीं और न ही डरीं। उन्होंने सीधे आग लगे इंजन को बंद कर दिया। उस वक्त स्पाइसजेट की इस फ्लाइट में 2 बच्चों समेत 185 यात्री और 6 केबिन क्रू मेंबर भी थे। जहाज ने जब पटना से टेक ऑफ किया था, तो एक यात्री नीचे के नजारे का वीडियो बना रहा था, तभी उसने आग की लपटें देख फौरन केबिन क्रू मेंबर को बताया। जिससे फौरन पता चल गया कि इंजन नंबर एक से आग और धुआं निकल रहा है। पायलट मोनिका खन्ना तक जैसे ही खबर पहुंची तो उन्हें शक हो गया कि जहाज बर्ड हिट का शिकार हुआ है।
इसके बाद पायलट मोनिका खन्ना ने वह काम किया जो देश में एक मिसाल बन गया है। चुंकि पटना हवाई अड्डे के दो छोरों में से एक पर ऊंचे पेड़ हैं और दूसरी तरफ रेलवे लाइन। ऐसी स्थिति में आग से खराब हो चुके एक इंजन वाले प्लेन को लैंड कराना खुद में एक बड़ा जोखिम था। लेकिन मोनिका खन्ना ने अपना धैर्य नहीं खोया और उन्होंने प्लेन को पटना में रनवे पर उतारने का फैसला किया। और वही अंतिम दस सेकंड उनके साथ साथ देश के लिए भी मिशाल बन गया।

 

Leave a Reply