रूस और यूक्रेन के बीच शुरू हुआ युद्ध।

जैसा कि हम सभी जानते हैं, तकरीबन महीनों से रूस और यूक्रेन के बीच तनाव भरा माहौल बना हुआ था और अब जाकर दोनों देशों के बीच युद्ध छिड़ गया है।

रूस और यूक्रेन के बीच छिड़ी हुई जंग का मुख्य वजह नॉर्थ अंटलांटिक ट्रीटी ऑर्गेनाइजेशन को माना जा रहा है। बता दें कि 1949 में इसे शुरू किया गया था और अब यूक्रेन भी एन ए टी ओ में शामिल होना चाहता है और वहीं रूस इसके खिलाफ था।

रूस और यूक्रेन के बीच बने तनाव के माहौल में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने सैन्य कार्रवाई का आदेश दे दिया है। वही पुतिन ने कहा, कि यदि यूक्रेन की सेना हथियार डाल दे, तो इसे यहीं पर रोक दिया जाएगा।

इसके पश्चात ही यूक्रेन के अलग-अलग शहरों में एक के बाद एक धमाके की खबरें आ रही है। वही एएफ़पी के मुताबिक यह खबर आया है, कि पुतिन ने यूक्रेन पर सैन्य कार्रवाई का आदेश देते हुए यह भी कहा था, कि रूस का यूक्रेन पर कब्जा करने का कोई इरादा नहीं है लेकिन यदि कोई बाहरी खतरा होता है, तो उसका फौरन ही जवाब दिया जाएगा।

रूस ने यूक्रेन से लगी सीमा के पास तकरीबन दो लाख तक जवानों को तैनात कर दिया है। वहीं दूसरी ओर यूक्रेन की राजधानी कीव में धमाके की आवाजें सुनाई दे रही है। यूक्रेन और क्रेमटोस्र्क के तीसरे सबसे बड़े शहर ओडेस्सा से भी विस्फोट और धमाके की आवाजें आ रही हैं।

रूस के फाइटर जेट यूक्रेन में घुस चुके हैं और लगातार यूक्रेन की राजधानी कीव में क्रूज मिसाइल से अटैक किया जा रहा है। इतना ही नहीं यूक्रेन में रूस ने पैराट्रूपर्स भी उतार दिया है।

कीव, खारकीव और मारीवपोल जंग का मैदान बना हुआ है।रूस ने यूक्रेन में सैनिकों को उतार दिया है और यूक्रेन की धरती पर बम गिराए जा रहे हैं और मिसाइलें चलाई जा रही है।

वहीं रूस के राष्ट्रपति का कहना है,कि जो कोई भी हमारे साथ हस्तक्षेप करने की कोशिश करेगा या फिर हमारे लोगों के लिए खतरा पैदा करेगा, तो उसे पता होना चाहिए कि रूस की ओर से उस पर तत्काल प्रतिक्रिया होगी और आपको ऐसे परिणामों की ओर ले जाएगी जैसा शायद ही आपने अपने इतिहास में इससे पहले कभी अनुभव किया होगा।

इतना ही नहीं पुतिन ने एक टेलीविजन संबोधन में यह तक कहा, कि यूक्रेन द्वारा पेश किए जा रहे खतरों के जवाब में कार्रवाई की जा रही है और पुतिन ने आगे कहा कि खून-खराबे के लिए यूक्रेन का शासन ही जिम्मेदार है।

वहीं दूसरी ओर रूस के सैन्य आदेश देने से पहले ही बॉर्डर पर बढ़ रहे तनाव के बीच ही यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की टीवी पर लाइव आकर युद्ध को टालने की भावुक अपील की थी और इतना ही नहीं उन्होंने रूसी लोगों को रूस-यूक्रेन के साझा इतिहास और संस्कृति की भी याद दिलाई थी।

आगे जेलेंस्की ने कहा था, कि उन्होंने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को फोन भी किया था हालांकि उनकी ओर से कोई जवाब नहीं मिला। यूक्रेन के राष्ट्रपति ने साफ़ शब्दों में कहा, कि उनका देश शांति चाहता है।

यह भी पढ़ें : यूक्रेन : जंग के बीच सबको लंगर खिला रहा सिक्ख समुदाय, हीरो के रुप में सामने आए हरदीप…

Leave a Reply